Deltin7 क्रिकेट सट्टेबाजी साइटें : Deltin7 How To Play Blackjack : टेक्सास होल्डम स्टेप बाय स्टेप कैसे खेलें

(Deltin7 ऑनलाइन कैसीनो भारत असली पैसा) : Deltin7 How To Play Blackjack Spin your way to winning, रॉयल पोकर Strike it rich at our online casino! . सिंह- सिंह राशि वाले जातकों के लिए यह माह आर्थिक परेशानी वाला रहेगा। व्यापार में सफलता मिलते-मिलते रुकेगी। कृषि क्षेत्र में उतार-चढ़ाव रहेगा। नौकरी में साथियों से सहयोग प्राप्त होगा। स्वयं को स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ रहेगी। पिता की तीर्थयात्रा हो सकती है। भाई के परिवार में मांगलिक कार्य होगा। किसी नए व्यापार को प्रारंभ न करें, परेशान हो सकते हो। दिनांक 3, 21 शुभ हैं, 18 अशुभ है। राहु के जाप लाभप्रद रहेंगे।

Deltin7 ऑनलाइन जुआ खेल Deltin7 How To Play Blackjack टेक्सास होल्डम स्टेप बाय स्टेप कैसे खेलें

Deltin7 How To Play Blackjack
Spin your way to winning

घटना के बाद शादी वाले घर में मातम पसरा हुआ है। नवविवाहितों के माता-पिता भी बेटे-बहू के गम में बेसुध हैं।इस मामले से हर कोई हैरान हैं। एक नौजवान विवाहित जोड़ा एक ही रात में एक साथ हार्ट अटैक से कैसे मर सकता है? मृतक दूल्‍हा प्रताप रात को सोने से पहले अपने कमरे से बाहर आया था। उसने मां से कहा था कि मामा को जाने मत देना उन्‍हें रुकने के लिए कहना। इसके बाद प्रताप दोबारा अपने कमरे में सोने चला गया। Deltin7 How To Play Blackjack, नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने प्रदर्शनकारी पहलवानों के साथ 6 घंटे तक चली बैठक के बाद बुधवार को कहा कि भारतीय कुश्ती महासंघ (wfi) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brijbhushan Sharan Singh) के खिलाफ दिल्ली पुलिस की जांच 15 जून तक पूरी हो जाएगी। पहलवान साक्षी मलिक, बजरंग पुनिया और सत्यव्रत कादियान ठाकुर के घर पर आज उनसे मुलाकात करने गए। बैठक के बाद ओलिंपिक मेडलिस्ट पूनिया ने कहा कि उनकी सरकार से कुछ बिंदुओं पर बात हुई है। ठाकुर ने कहा कि डब्ल्यूएफआई के नए अध्यक्ष के चुनाव 30 जून तक होंगे। कुश्ती महासंघ का दैनिक कामकाज फिलहाल भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) की तदर्थ समिति के हाथ में है। ठाकुर ने कहा कि चुनाव होने तक इस समिति में दो कोचों को शामिल किया जाएगा। ठाकुर ने प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि मैंने कल सरकार की ओर से पहलवानों को बैठक का न्योता दिया था। लगभग 6 घंटे चली इस बैठक में हमने पहलवानों को आश्वासन दिया है कि (बृजभूषण पर) लगे आरोपों की जांच करके 15 जून तक चार्जशीट दायर की जायेगी, और डब्ल्यूएफआई के चुनाव 30 जून तक किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि कुश्ती महासंघ में शिकायत समिति बनायी जायेगी, जिसकी अध्यक्षता एक महिला करेगी। जब तक कुश्ती महासंघ के चुनाव नहीं होते तब तक आईओए की तदर्थ समिति में दो कोचों को शामिल करने के लिये उनका नाम प्रस्तावित किया गया है। ठाकुर ने मंगलवार देर रात ट्वीट कर कहा था कि पहलवानों को बैठक के लिये आमंत्रित किया गयाहै। उन्होंने ट्वीट किया था कि सरकार पहलवानों से उनके मुद्दों पर चर्चा करने को तैयार है। मैंने एक बार फिर पहलवानों को इसके लिये आमंत्रित किया है। ठाकुर ने बताया कि पहलवानों ने कुश्ती महासंघ के नए प्रशासन से बृजभूषण और उनके संबंधियों को दूर रखने की मांग की है। साथ ही पहलवानों ने महिला पहलवानों को सुरक्षा देने की मांग भी की है। ठाकुर ने कहा कि पहलवान 15 जून तक आरोप पत्र दायर होने को लेकर राज़ी हैं, इसलिए वे या उनसे जुड़े हुए लोग इस मामले में प्रदर्शन नहीं करेंगे। बजरंग, साक्षी और विनेश फोगाट एक नाबालिग सहित सात महिला पहलवानों के यौन शोषण के आरोपी बृजभूषण की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने बृजभूषण के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की हैं, जिनमें से एक पॉक्सो (यौन अपराधों से नाबालिगों का संरक्षण) से संबंधित है। दिल्ली पुलिस ने बीते शनिवार बृजभूषण के गोंडा स्थित निवास जाकर इस मामले में वहां मौजूद कर्मचारियों और सहयोगियों से सवाल-जवाब किए थे। यह केंद्र सरकार और पहलवानों के बीच दूसरी हालिया बैठक है। पहलवानों ने बीते शनिवार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी। इनपुट वार्ता

सूत्र ने कहा कि भारत भी एशिया कप नहीं होने की स्थिति में उसी समय स्वदेश में चार या पांच देशों के टूर्नामेंट के आयोजन की तैयारी कर रहा है।श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के फैसले का इन बोर्ड के पीसीबी के साथ संबंधों पर क्या प्रभाव पड़ता है, यह देखा जाना बाकी है। Deltin7 भारत में सर्वश्रेष्ठ कैसीनो ऑनलाइन एक जोखिम लें - बड़ी जीत! Strike it rich at our online casino! नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को आरोप लगाया कि बालासोर रेल हादसे की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की सरकार की घोषणा सिर्फ हेडलाइन मैनेजमेंट है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने वर्ष 2016 में कानपुर के निकट हुए एक रेल हादसे का उल्लेख करते हुए कहा कि उस मामले में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) से जांच कराए जाने की घोषणा की गई थी, लेकिन आज तक पता नहीं चल पाया कि उस जांच का नतीजा क्या निकला? उन्होंने दावा किया कि बालासोर रेल हादसे के मामले में रेलवे सुरक्षा आयुक्त की ओर से रिपोर्ट सौंपे जाने से पहले ही सीबीआई जांच का ऐलान कर दिया गया। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार की शाम घोषणा की थी कि बालासोर रेल हादसे की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की गई है। रमेश ने ट्वीट किया कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त द्वारा बालासोर रेल हादसे के बारे में अपनी रिपोर्ट सौंपे जाने से पहले ही सीबीआई जांच की घोषणा कर दी गई। यह कुछ और नहीं, बल्कि हेडलाइन मैनेजमेंट है। उन्होंने कहा कि अब यह घटनाक्रम याद कीजिए। 20 नवंबर, 2016 को इंदौर-पटना एक्सप्रेस कानपुर के निकट पटरी से उतर गई। इसमें 150 से अधिक लोगों की जान चली गई। तत्कालीन रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने 23 जनवरी 2017 को केंद्रीय मंत्री को पत्र लिखकर इस घटना की एनआईए जांच की मांग की। 24 फरवरी 2017 को प्रधानमंत्री ने कहा कि कानपुर ट्रेन दुर्घटना एक साजिश थी। रमेश ने दावा किया कि 21 अक्टूबर 2018 को अखबारों में प्रकाशित खबरों में कहा गया कि एनआईए इस मामले में कोई आरोप पत्र दाखिल नहीं करेगी। 6 जून, 2023 तक इस बात की कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है कि कानपुर रेल हादसे पर एनआईए की अंतिम रिपोर्ट क्या है? कोई जवाबदेही नहीं। एक दिन पहले सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने बालासोर रेल हादसे के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए इस मामले के सभी पहलुओं की जांच की मांग करते हुए प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने कहा था कि सीबीआई की जांच से तकनीकी, संस्थागत और राजनीतिक विफलताओं की जवाबदेही तय नहीं हो सकती। उन्होंने पत्र में यह भी कहा कि सीबीआई रेल दुर्घटनाओं की जांच के लिए नहीं है, वह अपराधों की छानबीन करती है। पूर्व रेलमंत्री खरगे ने आरोप लगाया था कि सरकार जवाबदेही तय करने के किसी भी प्रयास को नाकाम करने और लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। उल्लेखनीय है कि ओडिशा के बालासोर में कोरोमंडल एक्सप्रेस शुक्रवार शाम करीब 7 बजे लूप लाइन पर खड़ी एक मालगाड़ी से टकरा गई जिससे कोरोमंडल एक्सप्रेस के अधिकतर डिब्बे पटरी से उतर गए। उसी समय वहां से गुजर रही तेज रफ्तार बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कुछ डिब्बे कोरोमंडल एक्सप्रेस से टकरा कर पटरी से उतर गए। इस हादसे में कम से कम 275 लोगों की जान चली गई। इस मामले की सीबीआई जांच की घोषणा की गई है।(भाषा) Edited by: Ravindra Gupta

टेक्सास होल्डम स्टेप बाय स्टेप कैसे खेलें

दूसरी ओर स्कूल में 3 शिक्षकों के धर्मांतरण का मामला तूल पकड़ने के बाद तीनों महिला शिक्षक कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर पूरी स्थिति सामने रखी। उन्होंने कहा कि उन्होंने स्कूल ज्वाइन करने से पहले ही शादी कर लिया था और इस मामले में स्कूल की कोई भूमिका नहीं है। तीनों महिला शिक्षिकाओं ने किसी भी दबाव या लालच में धर्मांतरण के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने अपने दस्तावेज दिखाते हुए कहा कि वह बालिग है और उन्होंने अपनी मर्ची से प्रेम विवाह किया है। टेक्सास होल्डम स्टेप बाय स्टेप कैसे खेलें, इस एकादशी व्रत के प्रभाव से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। योगिनी एकादशी से जुड़ी मान्यता के अनुसार इस दिन स्नान के लिए मिट्टी (धरती माता की रज) का इस्तेमाल करना अतिशुभ होता है। साथ ही स्नान के पूर्व तिल के उबटन को शरीर पर लगाकर फिर स्नान करने की मान्यता है। बता दें कि एकादशी तिथि पर भगवान श्री विष्णु के लिए व्रत रखा जाता है। योगिनी एकादशी : 14 जून 2023, बुधवार के शुभ मुहूर्त : Yogini Ekadashi Muhurat 2023 आषाढ़ कृष्ण एकादशी तिथि का प्रारंभ- 13 जून, मंगलवार को 09.28 ए एम से, एकादशी की समाप्ति- 14 जून 2023, बुधवार 08.48 ए एम पर। योगिनी एकादशी पारण समय- पारण/ व्रत तोड़ने का समय- गुरुवार 15 जून 2023, 05:23 ए एम से 08:10 ए एम तक। पारण तिथि के दिन द्वादशी समापन का समय- 08:32 ए एम पर। 14 जून, बुधवार - दिन का चौघड़िया लाभ- 05.23 ए एम से 07.07 ए एम अमृत- 07.07 ए एम से 08.52 ए एम शुभ- 10.37 ए एम से 12.21 पी एम चर- 03.51 पी एम से 05.35 पी एम लाभ- 05.35 पी एम से 07.20 पी एम रात का चौघड़िया शुभ- 08.35 पी एम से 09.51 पी एम अमृत- 09.51 पी एम से 11.06 पी एम चर- 11.06 पी एम से 15 जून को 12.21 ए एम, लाभ- 02.52 ए एम से 15 जून को 04.08 ए एम तक। पूजा विधि- Yogini Ekadashi Puja Vidhi 1. योगिनी एकादशी के दिन सुबह स्नानादि से निवृत्त होकर स्वच्छे धुले हुए वस्त्र धारण करके व्रत शुरू करने का संकल्प लें। 2. तत्पश्चात पूजन के लिए मिट्टी का कलश स्थापित करें। 3. उस कलश में पानी, अक्षत और मुद्रा रखकर उसके ऊपर एक दीया रखें तथा उसमें चावल डालें। 4. अब उस दीये पर भगवान विष्णु की प्रतिमा स्थापित करें। पीतल की प्रतिमा हो तो अतिउत्तम माना जाता है। 5. प्रतिमा को रोली अथवा सिंदूर का टीका लगाकर अक्षत चढ़ाएं। 6. उसके बाद कलश के सामने शुद्ध देशी घी का दीप प्रज्वलित करें। 7. अब तुलसी के पत्ते और पुष्प चढ़ाएं। 8. तत्पश्चात ऋतु फल का प्रसाद चढ़ाकर भगवान श्रीहरि का विधि-विधान से पूजन करें। 9. फिर एकादशी की कथा का पढ़ें अथवा श्रवण करें। 10. अंत में श्री विष्‍णु जी की आरती करें। व्रत कथा-Yogini Ekadashi Katha इस एकादशी व्रत की पौराणिक कथा (Yogini Ekadashi 2023 Katha) के अनुसार स्वर्गधाम की अलकापुरी नामक नगरी में कुबेर नाम का एक राजा रहता था। वह शिव भक्त था और प्रतिदिन शिव की पूजा किया करता था। हेम नाम का एक माली पूजन के लिए उसके यहां फूल लाया करता था। हेम की विशालाक्षी नाम की सुंदर स्त्री थी। एक दिन वह मानसरोवर से पुष्प तो ले आया लेकिन कामासक्त होने के कारण वह अपनी स्त्री से हास्य-विनोद तथा रमण करने लगा। इधर राजा उसकी दोपहर तक राह देखता रहा। अंत में राजा कुबेर ने सेवकों को आज्ञा दी कि तुम लोग जाकर माली के न आने का कारण पता करो, क्योंकि वह अभी तक पुष्प लेकर नहीं आया। सेवकों ने कहा कि महाराज वह पापी अतिकामी है, अपनी स्त्री के साथ हास्य-विनोद और रमण कर रहा होगा। यह सुनकर कुबेर ने क्रोधित होकर उसे बुलाया। हेम माली राजा के भय से कांपता हुआ उपस्थित हुआ। राजा कुबेर ने क्रोध में आकर कहा- ‘अरे पापी! नीच! कामी! तूने मेरे परम पूजनीय ईश्वरों के ईश्वर श्री शिव जी महाराज का अनादर किया है, इसलिए मैं तुझे शाप देता हूं कि तू स्त्री का वियोग सहेगा और मृत्युलोक में जाकर कोढ़ी होगा।’ कुबेर के शाप से हेम माली का स्वर्ग से पतन हो गया और वह उसी क्षण पृथ्वी पर गिर गया। भूतल पर आते ही उसके शरीर में श्वेत कोढ़ हो गया। उसकी स्त्री भी उसी समय अंतर्ध्यान हो गई। मृत्युलोक में आकर माली ने महान दु:ख भोगे, भयानक जंगल में जाकर बिना अन्न और जल के भटकता रहा। रात्रि को निद्रा भी नहीं आती थी, परंतु शिव जी की पूजा के प्रभाव से उसको पिछले जन्म की स्मृति का ज्ञान अवश्य रहा। एक दिन घूमते-घूमते वह मार्कण्डेय ऋषि के आश्रम में पहुंच गया, जो ब्रह्मा से भी अधिक वृद्ध थे और जिनका आश्रम ब्रह्मा की सभा के समान लगता था। हेम माली वहां जाकर उनके पैरों में पड़ गया। उसे देखकर मार्कण्डेय ऋषि बोले तुमने ऐसा कौनसा पाप किया है, जिसके प्रभाव से यह हालत हो गई। हेम माली ने सारा वृत्तांत कह सुनाया। यह सुनकर ऋषि बोले- निश्चित ही तूने मेरे सम्मुख सत्य वचन कहे हैं, इसलिए तेरे उद्धार के लिए मैं एक व्रत बताता हूं। यदि तू आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की योगिनी नामक एकादशी का विधिपूर्वक व्रत करेगा तो तेरे सब पाप नष्ट हो जाएंगे। यह सुनकर हेम माली ने अत्यंत प्रसन्न होकर मुनि को साष्टांग प्रणाम किया। मुनि ने उसे स्नेह के साथ उठाया। हेम माली ने मुनि के कथनानुसार विधिपूर्वक योगिनी एकादशी (Yogini) का व्रत किया। इस व्रत के प्रभाव से हेम माली अपने पुराने स्वरूप में आकर वह अपनी पत्नी के साथ सुखपूर्वक रहने लगा। इस योगिनी एकादशी का व्रत करने से 88 हजार ब्राह्मणों को भोजन कराने के बराबर फल देता है तथा इसके व्रत से समस्त पाप दूर होकर अंत में स्वर्ग प्राप्त होता है। ऐसी इस एकादशी की महिमा है। योगिनी एकादशी के उपाय : Yogini Ekadashi Upay 1. पीपल में जल अर्पित करें : इस दिन कर्ज से मुक्ति के लिए पीपल वृक्ष में जल अर्पित करके उसकी विधिवत पूजा करें। 2. लक्ष्मी प्राप्ति : इस दिन धन-धान्य तथा लक्ष्मी की प्राप्ति के लिए घर में भगवान श्री विष्णु तथा माता लक्ष्मी का केसर मिले जल से अभिषेक करें। 3. घी का दीया : एकादशी तिथि पर पीपल में मीठा जल चढ़ाने तथा शाम के समय पीपल की जड़ में घी का दीया लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है। 4. तुलसी पूजन : एकादशी के दिन सायं के समय तुलसी के सामने गाय के घी का दीपक जलाकर 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:' का जाप करते हुए तुलसी जी की 11 परिक्रमा करें, इस उपाय से घर के समस्त संकट और आने वाली परेशानियां भी दूर जाती हैं। 5. दान-पुण्‍य : एकादशी के दिन उपवास के पश्चात द्वादशी तिथि पर पारण से पूर्व ब्राह्मणों को मिठाई, दक्षिणा तथा गरीबों को खाद्य सामग्री देने के पश्चात ही खुद पारणा करना लाभकारी होता है। 6. जाप मंत्र : एकादशी के दिन सुबह घर की सफाई करके मुख्य द्वार पर हल्दीयुक्त जल या गंगा जल का छिड़काव करके मंत्र- 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:' का 108 बार जाप करें। जाप में तुलसी की माला को उपयोग में लाएं। 7. स्थायी धन प्राप्ति : स्थायी धन की प्राप्ति के लिए पूजा स्थान में 11 गौमती चक्र रखकर स्फटिक की माला से 'श्री महालक्ष्म्यै श्रीयें नम:' मंत्र का 11 माला जाप करके उन्हें लाल वस्त्र में बांधकर तिजोरी में धन वाले स्थान पर रख दें। 8. रुपए का दान : इस दिन अपने सामर्थ्य के अनुसार वस्त्र और रुपया-पैसे का दान अवश्य करना चाहिए।

हमारे ऑनलाइन कैसीनो में बड़ी जीत के लिए जाओ! Deltin7 सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन कैसीनो भारत Mamata Banerjee sent mangos to PM Modi : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राज्य के आम की खास किस्में भेजीं। आम की पेटियां एक-दो दिनों में नई दिल्ली पहुंच जाएंगी। वह कई सालों से आम भेजती रही हैं। बताया जा रह है कि आमों को सजावटी बक्सों में भेजा गया। इन बक्सों में हिमसागर, फाजली, लंगड़ा और लक्ष्मण भोग किस्म के आम हैं। मौसमी फलों से भरा एक बक्सा भारत के प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ को भी भेजा गया है। बांग्लादेश की प्रधामंत्री शेख हसीना को भी आम भेजे गए हैं। ममता इससे पहले भी कई बार पीएम मोदी के लिए तोहफे भेज चुकी है। 2019 में पीएम मोदी ने अक्षय कुमार को दिए साक्षात्कार में कहा था कि दुर्गा पूजा के मौके पर ममता बनर्जी ने उन्हें कुर्ता-पायजामा और मिठाई भेजी थी। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ने गत वर्ष कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आम भेजे थे। (भाषा) मजूमदार ने कहा कि ममता बनर्जी के निर्देश पर राज्य के एक मंत्री तृणमूल पार्टी की ओर से पीड़ितों के परिवारों को 2 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दे रहे हैं। मैं इस फैसले की सराहना करता हूं, लेकिन इस सिलसिले में मैं यह सवाल भी उठा रहा हूं कि 2000 रुपए के नोटों के बंडल का सोर्स क्या है? उन्होंने सवाल किया कि क्या बैंकों में 2000 के नोट बदलने की प्रक्रिया को देखते हुए पीड़ितों के परिवारों को 2,000 रुपए के नोट देना अच्छा निर्णय है? भाजपा नेता ने कहा कि क्या इससे पीड़ित परिवारों को 2000 रुपए के नोट देकर उनकी मुश्किलें नहीं बढ़ाई गई? क्या यह टीएमसी के लिए अपने काले धन को सफेद करने का तरीका नहीं है? तृणमूल कांग्रेस के नेता कुणाल घोष ने मजूमदार के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि 2,000 रुपए के नोट देना अवैध नहीं है क्योंकि ये नोट अभी भी मान्य है। उन्होंने सवाल किया कि क्या 2000 रुपये का नोट अमान्य है? आज अगर कोई किसी को 2000 का नोट देता है तो क्या ये अवैध या काला धन है?

रॉयल पोकर

1 रॉयल पोकर, मुंबई। today Stockmarket : सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजारों में रिलायंस, आईसीआईसीआई बैंक और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी दिग्गज कंपनियों में लिवाली तेज रहने से सोमवार को लगातार दूसरे कारोबारी दिन दोनों मानक सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी बढ़त के साथ बंद हुए। शेयर बाजार में तेजी से निवेशकों की संपत्ति करीब 92,000 करोड़ बढ़ गई। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 240.36 अंक यानी 0.38 प्रतिशत चढ़कर 62,787.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 369.09 अंक तक उछल गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मानक सूचकांक निफ्टी भी 59.75 अंक यानी 0.32 प्रतिशत चढ़कर 18,593.85 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा में सर्वाधिक 3.81 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई। एक्सिस बैंक में भी 2.68 प्रतिशत की बढ़त रही। इसके अलावा टाटा मोटर्स, लार्सन एंड टुब्रो, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजुकी, इंडसइंड बैंक और सन फार्मा के शेयर भी चढ़कर बंद हुए। दूसरी तरफ एशियन पेंट्स, टेक महिंद्रा, नेस्ले, हिंदुस्तान यूनिलीवर, कोटक महिंद्रा बैंक और आईटीसी के शेयरों में गिरावट का रुख देखा गया। एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग बढ़त के साथ बंद हुए। यूरोप के बाजारों में दोपहर के सत्र में मिला-जुला रुख देखने को मिला। अमेरिकी बाजार पिछले कारोबारी दिन शुक्रवार को बढ़त के साथ बंद हुए थे। भारत के सेवा क्षेत्र की वृद्धि मई में हल्की गिरावट के बावजूद 61 अंक से ऊपर है। एक मासिक सर्वेक्षण में सोमवार को कहा गया कि मांग की अनुकूल स्थिति और नए ग्राहकों की मदद से यह हासिल हुई है। अप्रैल के मुकाबले मई में गतिविधियों में गिरावट के बावजूद सेवा उत्पादन में जुलाई, 2010 के बाद से दूसरी सबसे तेज वृद्धि हुई। अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.92 प्रतिशत चढ़कर 77.59 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने भारतीय बाजारों से निकासी की है। एक्सचेंज से मिले आंकड़ों के मुताबिक, एफआईआई ने शुक्रवार को 658.88 करोडड रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की थी। एजेंसियां

बता दें कि बिहार में जहरीली शराब से अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है। इसी के चलते बिहार सरकार ने राज्‍य में शराबबंदी कर रखी है। लेकिन अवैध शराब के तस्‍कर शराब के व्‍यापार के लिए तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। लाइव कैसीनो खेल Mumbai crime news : देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 18 वर्षीय छात्रा के साथ उसके छात्रावास के कमरे में बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई। मामले में आरोपी सुरक्षा कर्मी का शव रेल पटरियों से बरामद हुआ है। युवती से कोई संपर्क न होने की सूचना पर पुलिस चर्नी रोड इलाके स्थित छात्रावास की चौथी मंजिल पर उसके कमरे की तलाशी लेने पहुंची। कमरे के दरवाजे पर ताला लगा था। पुलिस के भीतर जाने पर छात्रा मृत मिली और उसकी गर्दन पर एक कपड़ा बंधा था। पुलिस ने बताया कि छात्रा उपनगर बांद्रा के एक सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ती थी। फॉरेंसिक और ‘फिंगरप्रिंट’ विशेषज्ञों के साथ मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत ही मामले की जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान पता चला कि छात्रावास का सुरक्षा कर्मी मंगलवार सुबह चर्नी रोड स्टेशन के पास रेल पटरी पर मृत पाया गया, जो इस मामले में संदिग्ध था। छात्रा के रिश्तेदार की शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) और 376 (बलात्कार) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। मामले की जांच जारी है और छात्रा की मौत की वजह जानने के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।